Social Items

यहां मौत पर मनाई जाती है खुशियां !! जानिए इस अनोखी और अजीब परम्परा के बारें में

दुनिया अपनी विशाल और विविध संस्कृतियों के लिए जाना जाता है। हर देश अपनी संस्कृति की पहचान बनाने के लिए अनूठी प्रकिया का वर्णन करता है। जन्म से मृत्यु तक, एक व्यक्ति को अपने जीवन के माध्यम से कुछ रस्में और संस्कृतियों का पालन करने के लिए बाध्य है। दुनिया में एक देश एेसा है जहा पर अपने करीबियों को खोना किसी के लिए भी आसान नहीं होता, लेकिन इस दुख की घड़ी में भी एक जगह ऐसी है जहां मातम नहीं खुशियां मनाई जाती हैं। देखिए अगली स्लाइड में…

मौत किसी के जीवन में सबसे निराशाजनक क्षण है, इंडोनेशिया के दक्षिण सुलेवासी प्रांत का टोराजा समुदाय अपनों से इतना प्यार करता है कि उनकी मौत के बाद भी उन्हें खुद से अलग नहीं कर पाता। इस समुदाय में, लोगों को उनकी उदासी, जो दुनिया के अन्य भागों से पूरी तरह से विपरीत है दिखाने के लिए कुछ अलग तरीका है।
यह इंडोनेशिया के दक्षिण सुलेवासी प्रांत का टोराजा में है। उसे किसी जिंदा इंसान की ही तरह सजाते संवारते हैं और उनके साथ फोटो भी क्लिक करते हैं। यही नहीं ये लोग बकायदा इसके लिए खास समारोह का आयोजन भी करते हैं।

एेसा करने पर यहां के लोग सोचते है कि इनके साथ अब जिंदा लोगो की तरह व्यवहार करें। अोर इन्हें कपड़े पहनाते है अौर अपने दोस्तों के साथ सेल्फी लेते है जिससे की उन्हें इनकी याद रह सके। यहां पर मरने के बाद उस इंसान की बैल्यू ज्यादा होती हैं मरने से पहले कोई भी इनसे बात नहीं करते है।

आमतौर पर मृत्यु होने के बाद अंतिम संस्कार किया जाता है, लेकिन इस समाज के लोग मृत्यु के बाद भी शव को शव नहीं मानते। वे शव को अपने परिवार का ही हिस्सा होते हैं। शव को घर में ठीक वैसे ही रखा जाता है, जैसा वो व्यक्ति मरने से पहले था। ये लोग मृतक को बीमार व्यक्ति की तरह मानते हैं, जिसे मकुला कहते हैं

इन्हें इस तरीके से तैयार करते है जैसे ये पहले दिखते थे। इसके बाद इन्हें अपने घर लेके जाते है। वे अपने परिवार के एक सदस्य के रूप में बीमार मृत व्यक्ति पर विचार करते है। ये लोग इस शव को अपने घर में एेसे रखते है कि ये अभी तक मरा नहीं जैसे की जिंदा है।
Loading...
loading...

No comments